Hindi sex stories

Hindi sex stories, chudia kahani

बहन की चुदाई फार्महाउस पर

Hindi sex stories हेलो दोस्तों, कैसे हो आप, आंटियों आप कैसी हो? आप की चूत जो बहुत बार चुद चुकी है वह कैसी है? और सिस्टर आप की तो कुंवारी चूत के लिए हर कोई दिन रात तड़पता रहता है.

तो दोस्तो अब स्टोरी पर आता हूं. यह स्टोरी मेरी सिस्टर की है जिसका नाम मुस्कान है. हमारा अपना बिजनेस है. घर में मैं, मम्मी, पापा और मुस्कान ही रहते हैं. मैंने एमबीए किया है और अपना बिजनेस संभालता हु. मुस्कान भी एमबीए कर रही है और उसको भी साथ बिजनेस में ही अटैच करेंगे. तो दोस्तों मुस्कान क्या कमाल की रंडी हे? कसा हुआ जिस्म, आगे से बड़े बड़े बोबे और पीछे उभरी हुई और सेक्सी गांड, उसका फिगर भी कमाल है, बूब्स ३६ के, कमर ३४ की, गांड ३६ की. थोड़ी मोटी पर कसे हुए जिस्म वाली.

वह यूनिवर्सिटी में जाती है और उन को मैं अपनी गाड़ी या बाइक पर छोड़ कर आता हूं. घर से निकलते वक्त काफी पर्दे में होती है, लेकिन यूनिवर्सिटी पहुंचते ही मैं उसको कहता हूं सब उतार दो दुपट्टा वगैरा और वह भी ऐसा ही करती है, और छोटा सा दुपट्टा गले में डाल कर यूनिवर्सिटी एंटर हो जाती है, क्योंकि यूनिवर्सिटी का माहोल कैसा हे यह मुझे अच्छे से पता हे. मैंने भी एमबीए यहां से ही किया है.

उसके ग्रुप में चार और स्टूडेंट उसके फ्रेंड हैं. वह भी बहुत अच्छे हैं और बहुत अच्छे अच्छे स्टडी करते हैं, मौज मस्ती और हंसी मजाक खूब करते हैं, उनसे मैं भी मिला हूं और उन के फोन नंबर भी मेरे पास है. सबसे मेरी बात की होती है. कभी कभी बिजी होने की वजह से मैं उन में से किसी एक को कहता हूं कि मुस्कान को मेरी ऑफिस तक छोड़ जाओ तो वह बाइक पर छोड़ जाते हैं.

उनका ग्रुप बहुत अच्छा है वह सब बहुत मस्ती करते हैं. मुस्कान के साथ कभी आइसक्रीम खाने जाते हैं तो मुझे भी ले जाते हैं. वह सब साथ में बहुत बहुत हॉट हॉट बातें करते हैं, मुस्कान की गांड पर हाथ फेरते हैं, उस के बाल खोल देते हैं, मुस्कान भी उनके गालों पर चुटकी काट लेती है.

मे भी मुस्कान के साथ बहुत फ्री हो के हर तरह की बातें करता हु उसकी हेयर रिमूव क्रीम ला कर देता हूं, और उसके लिए ब्रा भी में लाकर देता हूं.

एक दिन मुस्कान के दोस्त ने पार्टी रखी उस के किसी एक दोस्त की बर्थ डे थी, तो मुस्कान ने मुझे साथ चलने को कहा तो हम वहां एक होटल में पहुंचे. वहां बहुत गरम माहोल था. एक रूम में सब हमारा ही वेट कर रहे थे. सबने मुस्कान को गले लगाया और गाल पर किस की. मुस्कान मुस्कुरा दी और वह मुझे भी देख कर सब बहुत खुश हुए.

मुस्कान ने पैंट पहनी हुई थी और बहोत हॉट लग रही थी. ऐसे जैसे अभी चुदवा लेगी नंगी होकर.

फिर बर्थडे का केक काटा गया तो मुस्कान ने अपने होठों में केक का टुकड़ा लिया और अपने फ्रेंड को मुह में दिया और सब हंस रहे थे. मैं भी हंस रहा था. मुस्कान यह सब अपने भाई के सामने कर रही थी.

फिर उसने मुस्कान के गले में बाहे डाल दी और केक का टुकड़ा खाते हुए मुस्कान के होठ चूम लिए और सब मुस्कुरा दिए.

यह देख कर मेरा लंड पेंट में खड़ा हो रहा था, फिर खाना आ गया, सब ने खाना खाया और बातें करने लगे.

फिर एक ने मुस्कान के गाल पर चुटकी काट दी और कहा मस्त माल ही बनती जा रही है दिन ब दिन. यह सुन कर सब मुस्कुरा दिए और एक दोस्त बोला इस की चरबी पिघलानी पड़ेगी किसी दिन.

यह सुन कर सब मुस्कुराए सब बातें मेरे सामने हो रही थी, और मुस्कान थोड़ी शरमा भी रही थी.

मजा तो तब आया जब मैंने मुस्कान को खींच कर अपनी झोली में बैठाते हुए कहा कि चलो फिर ईसकी बर्थडे पिघला देते है सारी चर्बी इस हॉट रांड की तो सब हैरान रह गए और मुस्कुराने लगे और मुस्कान भी मदहोश सी हो गई यह सुन कर.

उस दिन मुस्कान सब की गोद में बैठी और बहुत मस्ती की. कोई १२ बजे हम गाड़ी पर घर आ गए.

अब तो वह मेरे साथ और भी खुल चुकी थी और अपने दोस्तों की सारी बातें मुझे शेयर करती थी. मैं भी उसको खूब मजाक में रगड़ता था.

कुछ दिन बाद उस की बर्थडे आ गई. बर्थडे की तैयारी में उसके फ्रेंड्स भी लग गए, सब ने उसको शॉपिंग कराई.

बर्थडे की तैयारी करने की वजह से मेरी उस से खुल के बात होती थी. उसने मुझे दो दिन पहले कहा कि भैया मेरी फ्रेंड्स कह रही है की होटल में बर्थडे का मजा नहीं आएगा, कोई और सेफ जगह होनी चाहिए, तो मैंने कहा आप के फ्रेंड्स क्या मजा लेना चाहते हैं? तो वह शरमा गई और बोली ओह्ह भाई समझ जाओ ना.

तो मैंने उसे अपनी तरफ खींच कर कहा कि समझा दो ना तुम ही तो हो और शरमा गयी. फिर मेने उसे जप्पी डाल दि और गांड पर हाथ फेरा तो मुस्कान कहने लगी आह्ह औउ उहह्ह भैया क्या कर रहे हो? उसने जोर से सिसकारी ली.

मैं समझ गया था कि चुदाई के मजे लेना चाहती हैं और सिल तुडवाना चाहती है. मैंने उसे कहा कि चलो कोई रूम ले लेते हैं रेंट पर, तो बोली नहीं भैया.

तो मैंने कहा कि और फिर क्या करें? तो वह बोली कोई अच्छा सुनसान सी जगह.

हमारा एक फार्म हाउस से जरा थोड़ा दूर यूनिवर्सिटी की तरफ है. बहुत बड़ा, ब्यूटीफुल और सुनसान इलाके में है.

मैं समझ गया कि उसकी नजर फार्म हाउस पर है पर मैं उसके मुंह से यह सुनना चाहता था.

फिर मैंने पूछा कि तुम ही बता दो तो वह शरमाते हुए बोली भैया फार्म हाउस कैसा रहेगा? यह सुन कर मैंने उसे कोऔर जोर से कस लिया और गाल पर किस भी कर दी आह औउ अह्ह्ह क्या नरम गाल थे.

वह मदहोश सी हो गयी थी. मैंने कहा क्या लगता है चर्बी पिघलवाना चाहती हो अपने फ्रेंडस से और उस के पेट पर एक चुटकी भी काट ली, तो वो कुछ नहीं बोली और आह्ह औऊ भैया कहने लगी.

फिर मैंने कहा ठीक है वहां एंजॉय अच्छा हो जाएगा, तो वह बहुत खुश हुई.

फिर उसने अपने फ्रेंड्स को भी बता दिया और वह भी बहुत खुश हुए.

बर्थडे के एक दिन पहले मैंने उस के एक दोस्त को फोन कर के कहा कि फार्म हाउस की चाबी ले जाओ मैं कल आउट ऑफ सिटी जा रहा हूं तो आप लोग वहां मुस्कान की बर्थडे पार्टी अरेंज कर लेना, मुस्कान से भी मेरी बात हो गई है उस से अच्छी जगह और कोई नहीं.

तो उसका दोस्त बोला नहीं भैया आप के बिना मजा नहीं आएगा और मुस्कान भी नहीं मानेगी, तो मैंने कुछ सोचने के बाद हां कर दी.

फिर एक दिन बदले सारी तैयारी की, मैंने केक वगैरा और बाकी खाने की चीजें ले ली.

और साथ ही एक पैकेट कंडोम का ले लिया. नेक्स्ट डे में सिस्टर को यूनिवर्सिटी के लिए लेके निकला गाडी में. यूनिवर्सिटी का तो एक बहाना था. आगे मुस्कान के फ्रेंडस वेट कर रहे थे. हम यूनिवर्सिटी के पास पहुंचे और देखा कि मुस्कान के फ्रेंड ने भी कुछ चीजें ले रखी थी मुस्कान के लिए गिफ्ट वगैरह.

ओह गाडी में हम दो लोग थे और वह चार लोग. फिर कुछ सोचने के बाद मैंने उन से कहा कि तिन लोग पीछे बैठ जाओ और साथ मुस्कान को भी गोद में बैठा लो. और एक आगे मेरे साथ आ जाओ.

और फिर क्या? मुस्कान पिछली सीट पर उन लोगों की गोद में बैठी थी. काम तो अभी से शुरु हो चुका था, वह भी बडे मजे ले रहे थे मुस्कान के साथ और हम मुस्कुराते हुए बातें कर रहे थे.

३० मिनट के बाद हमारा फार्म हाउस आ गया. फिर हमने सामान उतारा मैंने गेट खोल के गाड़ी अंदर खड़ी की और आगे का दरवाजा खोल कर एंटर हो गए.

वह जगह देख कर सब बहुत खुश हुए फिर हम सोफे पर जा कर बैठ गये कोई ११ बज रहे थे.

उधर मैंने अपनी सेक्रेटरी को बोल दिया कि आज मैं नहीं आऊंगा, सब संभाल लेना.

फिर हम बातें करने लगे. फिर केक काटने की तैयारी हुई और मुस्कान के सामने बहुत बड़ा केक रख दिया गया. वह पेंट और शर्ट में बहुत हॉट लग रही थी. सब मस्ती कर रहे थे, उस को नंगा करना चाहते थे, फीर केक काटा गया. सब ने अपने होठो से मुस्कान को खिलाया, उस के बूब्स दबाए और गांड पर हाथ फेरा. फिर मुस्कान को सब ने गिफ्ट दीये.

कुछ देर बाद मुस्कान ने सब के लिए ड्रिंक्स का पेग बनाया और सब को दिया और खुद भी लिया. ड्रिंक के बाद सब पर नशा सा चढ रहा था, तो मैंने मुस्कान को अपनी गोद में खींच लिया और उस के पेट पर हाथ फेरने लगा, सब हॉट हो रहे थे, मुस्कान भी सिसकिया ले रही थी. एक कुंवारी, जवान, खूबसूरत रांड हमारे सामने थी. फिर एक पैग और बनाने को कहा तो मुस्कान हॉट अंदाज में एक पेग तैयार करने लगी और सब को दिया.

अब और नहीं रहा जा रहा था. मैंने मुस्कान को छेड़ते हुए कहा की बर्थडे हे तो मौज मस्ती नहीं करनी अपने फ्रेंड के साथ? तो वह मुस्कुरा दी. मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उस की शर्ट उतारने लगा तो सब फ्रेंड हैरान रह गए. मैंने उन को आंख मार दी और कहा आज मुस्कान की चर्बी पिघला दो सब मिल कर, अब वह सिर्फ ब्रा में थी और शरमा रही थी. उस के हॉट बूब्स ब्रा में तन गये थे क्या बताऊं, ऐसे कुवारे बूब्स कभी पहले नहीं देखे थे.

फिर एक दोस्त ने जो की मेरे साथ ही बैठा था उस ने मुस्कान को अपनी तरफ खींच लिया और गोद में बिठा लिया और बूब्स दबाने लगा. सब पे नशा सा हो रहा था मुस्कान भी सिसकिया ले रही थी अहह औऊ अह्ह्ह ओह हहह इह हां एस हहह अन्न हहह इह हहह अय्य्य हघ हह्ही अह्ह्ह फिर उसके साथ बैठे दोस्त ने मुस्कान को अपनी तरफ खीच के अपनी गोद में बिठा लिया और खूब दबा रहा था, चारों दोस्तों की गोद में बैठ कर मुस्कान मजे ले रही थी.

अब में उठ कर खड़ा हुआ और मुस्कान के पीछे से जप्पी डाल दी और चूत के पास हाथ कर के उस की पेंट की जिप खोल दी उस ने आह्ह भाई आप क्या कर रहे हो सिसकारी ली और शरमा रही थी. मैंने उस की जट से पेंट नीचे कर दी, उसके मोटे चुतड गांड और चूत सब के सामने एक छोटी सी अंडरवियर मै थी.

उस का अंडरवियर गीला हो चुका था चूत के पानी से. वह भी तैयार हो चुकी थी चुदाई के लिए. अब फिर सब ने बारी बारी उसको चुम्मा चाटा और किस की. फिर ब्रा भी निकाल दिया और क्या नजारा था? इतनी सेक्सी हो गई मुस्कान? मैंने सोचा भी नहीं था. मैं उस के बूब्स पर टूट पड़ा और आ हहह इऔइग हहह अम्म्म भैया धीरे चुसो अहह ओह हा हुह ओह हां अम्म ओह हहह भैया अहहह धीरे चूसो और सिसकिया दे रही थी. उस के बूब्स एकदम तने हुए थे. मैंने उसे अपनी गोद में उठा लिया और बेड रूम में चलने को कहा, तो सब दोस्त बेडरूम में आ गये. मैंने उस को बेड पर गिरा दिया. हम सब उस पर टूट पड़े. उस को भी पहली ही बार ५ लोगों से मस्ती कर के मजा आ रहा था और सिसकियां ले रही थी औउ अह्ह्ह औऊ अह्ह्ह ह अहह हू ओह अहह अम्म्म एस अहह ओह अहह अम्म्म.

सब उस को चुम चाट रहे थे. मुस्कान की चूत से पानी की धार निकल रही थी, इतनी मस्त हो चुकी थी, एक घंटा ऐसा चलता रहा. फिर मैंने कहा अब चोद डालो रांड को तो सब दोस्त बेड से उतर गये और मुझे कहने लगे की पहले आप ही सील तोडो ईस रंडी की. तो में यह सुन कर मदहोश हो गया. मुस्कान कि सील उस के दोस्तो के सामने में तोड़ने वाला था.

मैंने और सब दोस्तों ने अपने अपने ड्रेस भी उतार दिए, उन सब से बड़ा लंड मेरा ही था. मैं बेड पर चढ़ गया और मुस्कान को किस करने लगा, उस के पैर खोल दिया और उसकी चूत चूसी और गौर से देखा तो उफ्फ्फ्फ़ उस की चूत थी एकदम मुलायम और सील पैक.

मैंने उसको तो डौगी स्टाइल में किया और अपना लौड़ा पीछे से उसकी चूत पर रख दिया.

फिर मुझे खयाल आया की कंडोम के बगैर कर रहा हूं तो एक दोस्त ने कंडोम का पैकेट जो हम ले कर आए थे ले आया और एक कंडोम निकाल के मुझे दिया. मैंने लंड पर चढ़ाया, तो मुस्कान भी मदहोश हो गयी. मैंने लंड पीछे से चूत पर सेट किया तो सब दोस्त हैप्पी बर्थडे मुस्कान करने लगे. मैंने एक झटका मारा तो वह कहने लगी आह्ह्ह औउ अहह ओह हां अम्म्म धीरे करो. लंड का टोपा अंदर सिल तोड़ता हुआ चला गया था. उफ्फ्फ क्या गरम चूत में ने और झटका मारा तो आधा लंड अंदर चला गया और धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा. मुस्कान आह्ह औउ ओह अहह औउह अहह ह अहह आऔ कर रही थी.

फिर धीरे धीरे मैंने और लंड अंदर डाल दिया और चोदने लगा. सारा बेडरूम महक रहा था. सब दोस्त देख रहे थे मुस्कान की चुदाई. कोई १० मिनट चोदने के बाद मैंने लंड निकाला और एक दोस्त को इशारा किया, उसने अपने लंड पर कंडोम चढ़ाया और मुस्कान के पीछे आ गया. आःह औऊ अह्ह्ह मम्म मुस्कान सिसकियां ले रही थी. उसकी चूत खुल चुकी थी और वह खुश भी लग रही थी. शायद थोड़ी भारी होने की वजह से उसको दर्द कम और मजा ज्यादा आ रहा था. अब उसके दोस्त ने एक ही झटके से लंड अंदर डाल दिया और चोदने लगा. १० मिनट बाद वह जड गया और फिर अगला दोस्त मुस्कान के पीछे लंड सेट कर के चोदने लगा.

मुस्कान अब तक कोई पांच बार पानी छोड़ चुकी थी. इसी तरह एक घंटे तक हम सब ने उसकी चूत को खोल दिया था चोद चोद कर. अब वह बेड़ पर गिर गई और लेटी हुई थी. दो दोस्त उस को किस कर रहे थे, मैं और दो दोस्त सामने सोफे पर बैठे हुए थे.

तिन चार घंटे हमने ऐसे ही आराम किया. अब रात के ९ बज रहे थे, तो मैंने घर फोन कर दिया कि मुस्कान की एग्जाम है इसलिए आज हम घर नहीं आ सकते हैं, यहीं रुकना पड़ेगा उसके साथ वह तैयारी में बीजी हे. तो मम्मी ने कहा ठीक हे, अपना ख्याल रखना. पर मां को क्या पता था मुस्कान का बर्थडे सेलिब्रेट हो रहा है उसको चोद कर.

फिर मैंने उसके दोस्तों को कहा कि आप लोग मेरी गाड़ी ले जाओ और खाना वगैरा ले आओं तो सब ने ड्रेस पहनि और चारों दोस्त बाजार की तरफ निकल पड़े. मेने गेट बंद किया और बेडरूम मैं मुस्कान के पास आ गया. मुस्कान ने मुझे गले से लगा दिया और थैंक्यू किया और कहा कि आप बहुत अच्छे हैं भैया, मुझे उम्मीद नहीं थी कि आप मुझे इतना इंजॉय करने दोगे. मैंने उस को किस किया और कहा तुम बहोत हॉट हो और मुझसे रहा नहीं गया तुम को चोदे बिना. वह मुस्कुराहट करके बोली अब जब दिल करे आप मुझे रांड बनाकर चोद लिया करो.

मैंने उस से पूछा कि पांच लंड एक साथ वह भी पहली बार ले कर केसा लगा तो कहती बहुत मजा आ गया, चुदाई का नशा कई दिन नहीं उतरेगा लेकिन तो अभी तो पूरी रात उसको खूब चोदना था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme