Hindi sex stories

Hindi sex stories, chudia kahani

नागपुर की सेक्सी आंटी

hindi sex stories में २५ साल की उमर का हु. मेने जस्ट अपनी पीजी कम्प्लीट की है. और नागपुर में अकेला रहता हु. विथ माय रूम मेटस, इन १ BHK फ्लैट. हम फ्लेट पे कभी भी किसी को भी ला के चोद सकते है.

मुझे बचपन से ही ब्लू फिल्म और सेक्सी स्टोरी पढने की आदत लग गयी. और में रोज मुठ मारा करता हु. मेरे दिमाग में हमेशा चुदाई का ख्याल रहता है, मेरा लंड ६ इंच का है. बट इट कैन सेटीसफाय एनी वुमन, मेरी बॉडी एवरेज है. और हाइट ५ फीट ५ इंच है.

एक दीन में ऐसे ही फेसबुक सर्फ कर रहा था, की मुझे एक आंटी दिखी, मेने उनको फ्रेंड रिक्वेस्ट सेंड की और उन्हों ने एक्सेप्ट कर ली. बाद मे धीरे धीरे हमारी चैटिंग बढ़ने लगी. और कुछ बिन बाद में हम ने सेक्स चैटिंग शुरू कर दी.

बाद में हम ने कोंटेक्ट नंबर शेयर कर लिए, शुरू शुरू में आंटी इंटरेस्टेड नही थी. लेकिन वो भी क्या करे. उनकी सेक्स की भूख उनको इससे दूर रख नही पाई. और बाद मे वह भी मेरा सेक्स चेट में साथ देने लगी.

हमने बहुत दिनों तक सेक्स चेट की आफ्टर फ्यू डे स्टार्टेड तो मीट इच अदर, कुछ दिन बाद प्लान कर के हमने मिलने का सोचा, रात को आंटी को बुलाया, और उनके साथ घुमने आया. आंटी को देख के में पागल हो गया.

वो लगभग ३२ साल की है. और उनका फिगर बहुत कातिलाना है. दिखने में थोड़ी सावली है. लेकिन बहुत सेक्सी दिखती है. मुझे मोटी लडकिया पसंद है. आंटी भी बिलकुल वैसे थी, ३४-३८-३६ फिगर था. तो एक सुमसान सडक पे हमने गाड़ी रुकवाई. और मेने आंटी को किस करना और बूब्स दबाना शुरू किया. वो भी मेरा साथ देने लगी.

बट इट इज नोट प्रॉपर प्लेस तो डू ओल धिस थिंग, फिर हम रुके और हम अपने अपने घर चले गये. बाद मे हमने मेरे फ्लैट में मिलने का सोचा. और वो दीन आ गया की आंटी मेरे फ्लैट पे आ गयी.

वह एकदम सेक्स बोम्ब लग रही थी फिर हम अंदर आये और बाते करने लगे, फिर मेने आंटी को किस करना शुरू किया, और वो भी मेरा साथ देने लगी.

फिर में आंटी के बूब्स दबाने लगा. बाद मे मेने आंटी को पुरे कपडे निकालने को कहा. आंटी सलवार पहन के आई हुई थी. मेने आंटी की सलवार निकाली और अब वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी मेरे सामने, मेने आंटी के पुरे शरीर को चूमा तो वो मचल उठी. फिर उन्होंने मेरे कपडे निकले और मेरा बॉडी चूमने लगी.

थोड़ी देर में हम दोनों पुरे नंगे हो गये. मेने आंटी की चूत पे अपनी जीभ रखी. और चूसने लगा. उनकी चूत एकदम क्लीन सेव थी. उन्होंने मेरे लंड को चूमा और चुदाई के लिए रेडी हो गया.

मेने आंटी की चूत पे अपना लंड रखा. और एक जटका मारा तो लंड फिसल गया, फिर आंटी ने लंड को चूत पे सेट किया. तो थोडा अंदर गया. लेकिन आंटी बहोत दिनों बाद सेक्स कर रही थी तो उनको दर्द होने लगा. आंटी की चूत एकदम टाइट थी.

फिर मेने धीरे धीरे अपना पूरा लंड उनकी चूत में डाल दिया. और पेलना शुरू किया, और आंटी पहले थोडा दर्द से तड़प रही थी. लेकिन थोड़ी देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगी.

मेरे लिप्स काट रही थी और मोन कर रही थी. पुरे रूम में अह्ह्हह्ह्ह्ह अहहहह्हह्ह्ह्ह अह्हहहहः अहाहहहहहहः आआआआआ ऐसे आवाज आ रही थी. मुझे पागल बना रही थी. मुझे वो देख कर और जोश आ गया. और मेने अपनी स्पीड बढाई. आंटी भी मेरे हर स्ट्रोक का जवाब देती नही. १० मिनीट की चुदाई के बाद में जड गया. और आंटी को चूमने लगा.

उनके बदन की मादक खुशबु मुझे और भी एक्साइट कर रही थी. तो मेने कहा मेरा लंड चुसो, और चुदाई के लिए तयार करो. आंटी ने एक बार फिर मेरा लंड चूसा और हम और एक राउंड के लिए तयार हुए.

फिर मेने आंटी के गांड के नीचे पिलो लगायी. और चूत में लंड डालके चुदाई स्टार्ट की. उसके बाद उसको मेरे उपर लिया. और आंटी मेरे लंड पे बेठ के उपर निचे हो रही थी. क्या मजा आ रहा था उस वकत, में भी नीचे से हिल रहा था. रूम में पूरी आंटी की गूंजे और हमारा पच पच आवाज गूंज रहा था.

ऐसी और सेक्सी कहानी पढ़े: मौसी का प्यार
इस बार मेने आंटी को अलग अलग पोज़ में चोदा. और आंटी इस टाइम दो बार जड गई थी. और फिर हमारे आधे घंटे के खेल के बाद आंटी मेरी बाहों में सो गयी. फिर हमने किस किया और फिर आंटी कहने लगी की,

आंटी – तुम तो अच्छे से चोदते हो, कहा से सिखा.

फिर मेने आंटी को बताया की ब्लू फ्लिम देख के ये सब सिखा, फिर उन्हों ने मुझे किस किया. फिर थोड़ी देर में आंटी रेडी हो के निकल गयी. और उसके बाद जब भी हमे मौका मिलता है, हम चुदाई कर लेते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hindi sex stories © 2017 Frontier Theme